College-Mate Preeti Ki Puri Raat Chudai

College-Mate Preeti Ki Puri Raat Chudai

में राजेश फिर से लाया हूँ एक नई स्टोरी ये स्टोरी उस लड़की पर है जो मुझे पसंद करती थी पर मे नही करता था उसको पसंद उसका नाम था प्रीति। प्रीति मेरे साथ कॉलेज मे पढती थी और मुझसे बहुत क्लोज़ होना चाहती थी वो हमेशा कोशिश करती थी कि वो मेरी गर्लफ्रेंड बन सके प्रीति दिखने मे स्मार्ट थी उसका कलर फेयर था हाइट भी ठीक थी और फिगर भी मस्त था प्रीति का एक छोटा भाई और एक बड़ी बहन थी जो की शादीशुदा थी पर उनके पति ने उनको शादी के कुछ दिन ही बाद छोड़ दिया था वो प्रीति के साथ ही एक रूम मे रहती थी.

एक दिन मे प्रीति का लेपटॉप यूज़ करने के लिए अपने रूम पर लाया और शाम को उसमे अपना प्रॉजेक्ट कंप्लीट करके मैने उसका लेपटॉप मे सारी ड्राइव देखना शुरू की तो एक हिडन फोल्डर दिखा मैने उसको ओपन किया तो उसकी फेमिली फोटो थी मे देखता गया उसी मे सबफोल्डर था जिसमे सीक्रेट नाम से फाइल सेव थी जब मैने उसको ओपन किया तो देख कर दंग रह गया उस फोल्डर मे न्यूड पिक्स और ब्लू फिल्म थी मे सोचता रह गया की वो भी ये सब देखती है खैर मे मूवी देखने मे मस्त हो गया और रात भर अकेले करवटे बदलता रहा अगले दिन कॉलेज जा कर मैने उसको लेपटॉप दिया और कहा की मूवी अच्छी थी प्रीति पूछने लगी कौन सी मूवी वो समझ रही थी की मे हिंदी मूवी की बात कर रहा हूँ.

फिर मैने नॉटी स्माइल के साथ कहा जो तुम्हारे फेमिली फोटो वाले फोल्डर मे है प्रीति का चेहरा शर्म के कारण लाल हो गया और वो उठ कर चली गई मेने रात मे ही मन बन लिया था की प्रीति को तो सच मे सेक्स का मजा दिलाऊंगा अपने लंड से मेने शाम को प्रीति को कॉल किया उसने उठाते ही झिझकते हुए पूछा क्या हुआ मैने कहा कुछ नही तुम कुछ कहे बिना ही चली गई थी तो कल क्या सब कुछ ठीक तो है प्रीति फिर चुप हो गई मेने कहा कि देखो हर कोई देखता है इस टाइप की मूवी कोई बात नही। उस दिन से प्रीति मुझसे कुछ ज़्यादा ही ओपन हो गई और गर्लफ्रेंड सब कुछ बात करने लगी.

1-2 दिन बाद मेने प्रीति से कहा की क्यों ना हम कही चल कर फुल डे इन्जॉय करे मस्ती करे और मूड भी फ्रेश हो जायेगा वो थोड़ा टाइम मांगने लगी की अगले हफ्ते जायेगे क्योकी उसके मम्मी पापा भी आउट ऑफ स्टेशन जा रहे है छोटे भाई के साथ वो अकेली होगी तब चलेगे मे बहुत बेसब्री से नेक्स्ट वीक का इंतजार करने लगा मेने पूरी प्लानिंग कर ली थी की प्रीति को चोदूगा क्योकी वो खुद चुदना चाहती थी और वो दिन आ ही गया जब मे प्रीति को चोद सकता हमने रात मे पूरा प्लान बनाया और नेक्स्ट दिन मे बाइक लेकर गया वो जीन्स टॉप पहन कर आई थी एकदम कयामत लग रही थी मे भी उसको बाइक पर बैठा कर ले जा रहा था वो बाइक पर थोड़ा दूर बैठी थी मैने उससे कहा तो पास आकर बैठो ना उसने मना कर दिया मुझे लगा की चोदने का प्लान खराब हो जायेगा पर वो थोड़ी देर मे बिल्कुल चिपक कर बैठ गई उसके बूब्स मेरी पीठ को छू रहे थे और मेरा लंड खड़ा होता जा रहा था.

हम लोग सिटी से बाहर एक पार्क मे गये। वहां मै उसको अपने हाथो से इधर उधर टच कर रहा था की उसको लगे की अंजाने मे हो रहा है पर वो भी मेरा साथ दे रही थी मैने हिम्मत करके 1-2 बार उसके चूतडो पर भी हाथ फेरा और वो अंजान बनी रही जब मे देखता तो वो स्माइल दे देती थी मे तो मन ही मन बहुत खुश था पार्क मे ही हमने बहुत टाइम गुजार दिया और पार्क मे ही बने रेस्टोरेंट मे हमने खाना खाया और वापस चल दिए घर की और रास्ते मे वो मुझसे बिल्कुल चिपक कर बैठी थी और अपना एक हाथ मेरे लंड के पास रखे थी। हम लोग बात करते हुए आ रहे थे तभी मेने उससे कहा मुझे अपना लेपटॉप दे सकते हो उसने पूछा क्यो? मेने हंस कर कहा मूवी देखना है प्रीति ने मुझे मारते हुए कहा की खुद क्यो न्ही मूवी बना लेते हो मेने कहा आज तक लड़की नही मिली वो चुप कर गई और बोली घर चलो.

जब मे उसके घर पहुंचा तो प्रीति ने कहा चाहो तो तुम आज रात यही रुक सकते हो कोई नही है मे अकेली हूँ मे इशारा समझ गया पर थोड़ा भाव खाने लगा की नही मे जाऊंगा तो प्रीति ने ज़बरदस्ती करके मुझे रोक लिया और हम टी.वी देखने लगे रात के 8 बज रहे थे की प्रीति ने कहा मे फ्रेश हो कर आती हूँ और वो बाथरूम की तरफ़ गई मे भी पीछे से गया और दरवाजे पर कान लगा कर सुनने लगा बहते हुए पानी के साथ सिसकियां भरने की भी आवाज़े आ रही थी मे समझ गया की प्रीति मास्टरबेशन कर रही है मे जल्दी से आकर किचन मे चला गया और मे कोल्ड ड्रिंक की बोतल निकाल पीने लगा तभी मेरी नज़र विस्की की बोतल पर गई.

मेने थोड़ी सी विस्की कोल्ड ड्रिंक की बोतल मे मिला दी और वापस बोतल को फ्रीज़ मे रख दिया और जा कर टी.वी देखने लगा तब तक प्रीति भी आ गई वो अपने गीले बालो को सुखाते हुए आ रही थी क्या सेक्सी दिख रही थी मे उसको घूरता रहा तो प्रीति मुझसे बोली की ऐसे क्या देख रहे हो मेने कहा तुमको कितनी हॉट हो तुम वो शर्मा कर अपने रूम मे चली गई और मे भी उसके पीछे गया और कहा की लेपटॉप मिलेगा। उसने इशारा किया की वो रहा मेने उसको ऑन करके सॉंग्स बजाने लगा प्रीति ने मुझसे कहा की चाय पीओगे तो मेने कहा नही कोल्ड ड्रिंक पीने का मन है मे बाहर से लाता हूँ प्रीति बोली की घर मे है और वो 2 ग्लास और बोतल ले आई मे तो मन ही मन खुश हो रहा था उसने ग्लास मे कोल्ड ड्रिंक डालकर मुझको दी और खुद पीने लगी हम दोनो ने 2-2 ग्लास कोल्ड ड्रिंक पी प्रीति को हल्का हल्का सा नशा होने लगा वो बोली मुझे चक्कर आ रहे है मे सो जाती हूँ तो मेने कहा मे कहा जाऊंगा मे अकेला हो जाऊंगा तुम एक काम करो मेरे साथ यही बैठो.

थोड़ी देर वो मान गई मेने लेपटॉप मे ब्लू फिल्म लगा कर फ्रेश होने के बहाने से चला गया जब मे आया तो देखा की प्रीति का चेहरा लाल है वो पूरी तरह से तैयार है सेक्स के लिए बस पार्ट्नर चाहिए उसको मे उसके पास जा कर बोला की क्या देख रहे हो मे बंद करता हूँ प्रीति बोली चलने दो ना हम दोनो साथ देखेगे मेने मना किया पर वो बहुत गर्म हो चुकी थी नही मानी मे जाकर उसके पास बैठ गया और धीरे से अपना एक हाथ उसकी कमर पर सहलाने लगा थोड़ी देर बाद प्रीति को क्या हुआ पता नही वो मेरे गले लग कर मेरी पीठ को जकड लिया मे समझ गया की लड़की तैयार है चुदने को मेने प्रीति से पूछा की रूम मे चलते है उसने कहा की वो चल नही पायेगी.

मेने उसको गोद मे उठा कर रूम मे ले जाकर बेड पर लेटा दिया और उसके होठ चूसने लगा वो भी ज़ोर से मेरा साथ दे रही थी मेने उसकी गर्दन को बहुत प्यार से चूमा जिससे वो और ज़ोर ज़ोर से सिसकियां लेने लगी फिर मेने उसका टॉप और लोवर उतार दिया वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा और पेंटी मे थी उसकी पेंटी गीली हो चुकी थी मेने उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और बड़े बड़े बूब्स चूसने लगा वो और ज़ोर से सिसकियां भर रही थी मेने भी अपने कपडे उतार दिए और अपना लंड उसके होठो पर सहलाने लगा वो जीभ से बार बार चाट रही थी मेने उसके मुँह मे लंड घुसा दिया और वो लंड को लोलीपोप समझ कर चूसे जा रही थी.

कुछ देर बाद मे उसके मुँह मे ही झड़ गया और वो सारा पानी पी गई मे फिर उसकी नाभि पर अपनी जीभ फेरता रहा और वो कहती रही की मत तडपाओं चोदो मुझे मेने कुछ देर बाद उसकी पेंटी निकाल दी वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी उसका फिगर तो कयामत से भी ज़्यादा कयामत था चूत तो बहुत प्यारी सी थी दिखने मे छोटी गौरी और छोटे छोटे बाल मेने देर ना करते हुए अपनी जीभ उसकी चूत के दाने पर जैसे ही रखी वो तो पूरी कांप गई जैसे बिजली का झटका लगा हो मे अपनी जीभ से उसको काफ़ी देर तक चोदता रहा और उसका टेस्टी पानी का स्वाद भी लेता रहा है फिर मे अपनी 2 उंगलिया उसकी चूत मे अंदर बाहर करने लगा उसकी चूत टाइट थी क्योकी वो चुदी नही थी बस वो भी अपनी उंगलियों से काम चलाती थी जब उसकी चूत थोड़ी ढीली हुई तो मेने अपना लंड चूत पर रखा चूत बहुत गर्म थी जेसे की गर्म लोहा जेसे ही मेरा लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा और प्रीति तड़प के कारण बहुत बुरी तरह से मचल रही थी

फिर मेने चूत के छेद पर लंड रख कर ज़ोरदार धक्का मारा लंड का सुपाडा ही अंदर गया और प्रीति की चीख निकल गई मेने जल्दी से उसके होठ चूसना शुरू कर दिया और दूध को मसलना थोड़ी देर बाद दूसरा धक्का मारने मे आधा लंड अंदर चला गया और मे उसके होठ और दूध मसलता ही रहा थोड़ी देर बाद प्रीति खुद अपने चूतड़ उठा कर इशारा करने लगी की चोदो तभी मेने पूरे ज़ोर से अपना लंड चूत की गहराइयो मे पहुंचा दिया और प्रीति तो जैसे मर गई हो दर्द से उसकी चूत फट गई और खून निकल रहा था मेरा लंड बेड शीट उसकी चूत सब लाल हो गये मेने उसको नही बताया वरना वो डर जाती जब मेने धीरे धीरे धक्के मारने शुरू किए तो प्रीति को मजे आने लगे और वो भी चूतड़ उठा उठा कर साथ देने लगी 10 मिनिट तक हमने पूरे जोरो से एक दूसरे के साथ सेक्स का आनंद लिया और साथ मे झड़ गये.

मेने अपना सारा स्पर्म उसकी चूत मे छोड़ दिया और सारा पानी उसकी चूत से बह कर बाहर आने लगा उसकी प्यारी चूत पर बहता पानी बहुत एग्ज़ाइटेड कर रहा था मुझे और मन हो रहा था की उसको फिर से चोदूं जब वो उठी तो इतना ज़्यादा खून देख कर डर गई पर मेने कहा छोड़ो चुदाई पर ध्यान दो और हम फिर 69 पोज़िशन मे आकर एक दूसरे का लंड और चूत चूसने लगे उसने मेरे छोटे लंड को हाथ मे लेकर रगड़ने लगी और मुँह मे ले कर चूसने लगी और मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और वो अपने गले तक इसको चूस रही थी.

मेने भी उसकी चूत को रुमाल से साफ किया और फिर अपनी जीभ उसकी चूत पर फेरने लगा उसकी चूत फूल कर मोटी और हॉट हो गई थी मे तो सातवें वे आसमान पर था उसकी चूत का निकलता पानी की महक और स्वाद बहुत मस्त था मे अपनी पूरी जीभ उसकी चूत मे अंदर बाहर करने लगा और ज़ोर ज़ोर से मेरा लंड चूस कर अपनी बैचेनी मिटा रही थी तभी प्रीति ज़ोर से झटका मारते हुए झड़ गई और मेरी जीभ उसकी चूत के पानी से पूरी तरह से भर गई मेने उसको अपने उपर लाकर अपने लंड को गाईड करते हुए उसकी चूत अपने लंड पर रखी और मेने ज़ोर से एक झटका मारा पूरा लंड पहली बार मे घुस गया प्रीति तो तड़प कर पूरे शरीर को ढीला करके मेरे उपर गिर गई और सिसकियां भरते हुए चुदाई का आनंद ले रही थी.
उस रात हमने 4 बार सेक्स किया जब सुबह हुई और प्रीति का नशा उतरा तो कुछ नही बोली और रूम से कपड़े पहन कर चली गई मेने उसके पीछे जाकर उसको पकड़ लिया और उसकी गर्दन को चूमने लगा वो मन करती रही पर मेने नही छोड़ा और थोड़ी देर बाद वो फिर गर्म हो गई और हमने एक दूसरे को मॉर्निंग का हसीन तोहफा दिया तभी मुझे प्रीति ने कहा की आज उसके सारे अरमान पूरे हो गये मुझसे प्यार करने के, चुदने के फिर उस दिन के बाद हमको जब भी मौका मिलता है हम चुदाई करते है माई स्वीट प्रीति और उससे भी ज़्यादा स्वीट प्रीति की चूत में आशा करता हूँ की आपको मेरी यह स्टोरी जरुर पसंद आयेगी.

Be the first to comment

Leave a comment

Your email address will not be published.


*